Kalonji ke Fayde

कलौंजी का सेवन करने के 10 बड़े फायदे, ऐसे करें उपयोग

अक्सर सभी घरों में मसालों का उपयोग किया जाता है, जो काफी फायदेमंद होते हैं। कलौंजी (Kalonji ke Fayde) हमारे सेहत के लिए बेहद लाभदायक होता है। जबकि रोजाना सब्जी के लिए जीरा, अजवाइन और कलौंजी ऐसे मसाले हैं, जो ज्यादातर इस्तेमाल होते हैं। यह न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता है, बल्कि इससे आपके शरीर को कई फायदे मिलते हैँ। कलौंजी को काला जीरा भी कहा जाता है।

Kalonji ke Fayde

एक्सपर्ट्स का मानना है कि कलौंजी (Kalonji ke Fayde) का बीज फाइबर, अमीनो एसिड, विटामिन बी, विटामिन बी 12, नियासिन और विटामिन सी जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसका तेल अन्य तेल की तुलना में अधिक लाभकारी होता है। इसके अलावा नियमित रुप से अगर आप इसे सुबह खाली पेट खाते हैं, तो ये कई बीमारियों से बचाता है।

Table of Contents

कलौंजी के फायदे | Kalonji ke Fayde

1. डायबिटीज और किडनी की समस्या

डायबिटीज के मरीजों के लिए कलौंजी का सेवन रामबाण साबित होती है।  इसमें ब्लड शुगर को कम करने की क्षमता होती है। रोजाना सुबह खाली पेट कलौंजी के बीजों के सेवन से टाइप-2 डायबिटीज के खतरे से निजात मिलती है। साथ ही किडनी स्टोन की समस्या में भी कलौंजी का सेवन फायदा पहुंचाता है।

2. वजन घटाने में मददगार

सुबह खाली पेट कलौंजी (Kalonji ke Fayde) के बीजों का सेवन करने से वजन घटाने में भी मदद मिलती है। कलौंजी की चाय मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करती है। ये वेट लॉस प्रोसेस में आपकी मदद करेगी। इसके अलावा कलौंजी के तेल का सेवन करने से भी वजन घटाने में मदद मिलती है। कलौंजी के बीज को निगेला सीड या ब्लैक क्यूमिन के नाम से भी जाना जाता है।

3. अस्थमा की समस्या

बढ़ते प्रदूषण की वजह से अस्थमा की परेशानी काफी ज्यादा बढ़ रही है। अगर आप अस्थमा रोगी हैं, तो रोज सुबह गर्म पानी में कलौंजी और शहद मिलाकर पिएं। इससे आपको फायदा मिलेगा। आपके लिए कलौंजी (Kalonji ke Fayde) एक शक्तिशाली औषधि साबित हो सकता है।

4. याददाश्त बढ़ाने में सहायक

अगर आप मस्तिष्क के विकास को तंदरुस्त करना चाहते हैं, तो खाली पेट शहद और कलौंजी के बीजों का सेवन करें। इससे याददाश्त बढ़ती है। कलौंजी सिड्स खाना (Kalonji ke Fayde) अल्जाइमर जैसी बीमारी से भी छुटकारा दिला सकता है। इसके अलावा आयुर्वेद में पुदीने की पत्तियों के साथ कलौंजी के बीजों का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

5. ब्लड प्रेशर कंट्रोल

खाली पेट कलौंजी के बीजों का सेवन (Kalonji ke Fayde) करने से टाइप-2 डायबिटीज के खतरे को कम किया जा सकता है। हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को खाली पेट गुनगुने पानी के साथ कलौंजी का तेल पीने की सलाह दी जाती है। इससे ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। इससे आपको काफी लाभ हो सकता है।

6. कैंसर का कम करे खतरा

केंसर की समस्या इंसान के जीवन को धीरे-धीरे समाप्त कर देता है। इस खतरे से बचने के लिए कई तरह के उपाय किए जाते हैं। कलौंजी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। ये कैंसर पैदा करने वाले फ्री रेडिकल्स के असर हो खत्म करता है। खाली पेट कलौंजी का सेवन करने से स्तन कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर, फेफड़ों के कैंसर और अग्नाशय के कैंसर से जैसी घातक बीमारियों से छुटकारा दिलानें में मदद कर सकता है।

7. सूजन को कम करने में फायदेमंद

सूजन शरीर के लिए एक बहुत ही गंभीर समस्या है। सूजन एक्यूट से लेकर क्रोनिक तक हो सकती है। ऐसे में कलौंजी के सेवन से सूजन की समस्या से थोड़ी राहत निल सकती है। कलौंजी के बीजों में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण पाया जाता है। इससे सूजन को कम करने में मदद मिलती है और जोड़ों के दर्द की समस्या से निजात मिलती है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, अर्थराइटिस की समस्या में रोज सुबह खाली पेट कलौंजी (Kalonji ke Fayde) के तेल का सेवन आपको फायदा पहुंचाएगा। इसके अलावा सूजन को कम करने के लिए कलौंजी के तेल का उपयोग भी लाभकारी हो सकता है।

8. हार्ट के लिए फायदेमंद

सुबह खाली पेट कलौंजी का सेवन करना हार्ट के लिए बेहद अच्छा है। अगर आप डेली करीब 10 से 12 कलौंजी (Kalonji ke Fayde) का बीज डाइट में शामिल कर रहे हैं तो हृदय रोगों का रिस्क घटता है और बीपी नियंत्रित रहता है।

9. आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद

कलौंजी (Kalonji ke Fayde) के बीजों का नियमित रूप से सेवन करने से आंखों की रोशनी भी तेज होती है। इसके अलावा जिन लोगों को आंखों से पानी आने या फिर आंखों के बार-बार लाल होने की समस्या होती है, उन्हें भी काफी आराम मिलता है।

रोजाना अपनी डाइट में शामिल करें मात्र 2 अखरोट, मिलेंगे ये जरबदस्त फायदे

10. इंफर्टिलिटी समस्या का इलाज

पुरुषों और महिलाओं के लिए इंफर्टिलिटी (बांझपन) वह समस्या है, जिसमें संतान सुख की प्राप्ति नहीं होती है। पुरुषों में बांझपन की समस्या के पीछे 60 प्रतिशत कारण स्पर्म की कमी को बताया गया है। यह समस्या ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण होती है। एक स्टडी में दावा किया गया है कि कुछ हर्बल दवाओं में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव इस ऑक्सीडेटिव स्ट्रस को कम कर इस समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। इन हर्बल दवाओं में कलौंजी का भी नाम है, जिसमें सबसे अधिक एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव पाया जाता है।

नोट- यहां दिए गए कलौंजी के फायदे और नुकसान सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं। इनका उपयोग करने से पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।

FAQ,s

कलौंजी के तेल को बालों में कितने समय के लिए छोड़ सकते है?

कलौंजी का तेल को अपने बालों में करीब एक घंटे तक बालों में लगाकर छोड़ा जा सकता है।

कलौंजी के तेल से क्या बाल झड़ सकते हैं?

जी नहीं, कलौंजी का तेल बालों के विकास को बढ़ावा देने का काम कर सकता है।

बालों के लिए कलौंजी के तेल को कितनी बार इस्तेमाल किया जा सकता है?

इसे हफ्ते में करीब दो से तीन बार तक इस्तेमाल कर सकते हैं।

काले बीज को काम करने में कितना समय लगता है?

करीब दो से तीन महीने में कलौंजी के तेल के व्यापक प्रभाव देखे जा सकते हैं। हालांकि, इस तथ्य की पुष्टि के लिए सटीक वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

भारतीय सेना अग्निवीर भर्ती 2022 के रजिस्ट्रेशन शुरू, ऐसे करें आवेदन कलौंजी इन बिमारियों का है रामबाण इलाज, ऐसे करें उपयोग इन बिमारियों से दूर रखता है अखरोट, आज से ही खाना करें शुरू
भारतीय सेना अग्निवीर भर्ती 2022 के रजिस्ट्रेशन शुरू, ऐसे करें आवेदन कलौंजी इन बिमारियों का है रामबाण इलाज, ऐसे करें उपयोग इन बिमारियों से दूर रखता है अखरोट, आज से ही खाना करें शुरू